कुछ अपनी कुछ आपकी

कुछ अपनी कुछ आपकी,
कुछ दिल की कुछ दिमाग की,
कहती रहूं मैं, सुनते रहें आप,
प्यार और सराहना जो मिल जाए आपकी

Leave a Reply