अलहदा

इतना आसान नहीं था
  तुझे मुझसे अलग करना 
 तूने ही ठान लिया गर तो
 लो हम अलहदा हुए 

One thought on “अलहदा

Leave a Reply