थाती जीवन की

तेरा प्यार प्रभु थाती जीवन की
मैं हूँ दीप तो तू बाती जीवन की
तेरे मेरे प्यार पर यूँ टिका संसार
जैसे मेरी हर साँस मीत तेरी लगन की
गीत ये लबों पर तूने ही सजाये
बैठी हूँ जाने कैसे सुधबुध बिसराये
हर तरफ तेरा सरूर तेरा ही जादू
तू ही है ज्योति मेरे नैनन की
पलकन से तेरा पथ मैं बुहारूँ
अश्रुओं से तेरे चरण मैं पखारूँ
झूम झूम वाणी से गीत तेरे गाऊं
सार्थक हो जाए हर स्वास जीवन की

Leave a Reply