ख्वाहिश

कभी किसी की बद्दुआ  दुआ बन जाती है 
दी हुई सज़ा ज़िन्दगी का मज़ा बन जाती है 
खुद को सँवारो   सही बने रहो तुम 
दिल की हर ख्वाहिश कभी न कभी  पूरी हो जाती है

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s