सदायें





 तेरे दिल की सदायें दूर तलक जाएंगी 
हर दिल तक तेरी हर बात पहुँच जाएंगी 
जिनको फर्क ही नहीं पड़ता तेरे होने से भी 
शायद उनकी आंखों से नींदें भी उड़ जाएंगी

Leave a Reply