आत्मा

"अविनाशी है जीवात्मा 
जो दिख रहा है वो नाशवान है 
हमारी आत्मा अजन्मा नित्य 
 सनातन और पुरातन है"
जो जाने ये रहस्य वो!
 ना मरता और ना मारता है !!
आत्मा सर्वव्यापी  अचल
 अव्यक्त   अचिन्त्य और निर्विकार 
जो ज्ञानी जानता है वो 
कभी भी शोक नहीं करता  है

Leave a Reply