ज़मीर

ज़मीर उसका जागेगा जिसका ज़िंदा है 
क्यों दुनिया में इंसानियत से बड़ा धंधा है?  
बीमारों, लाशों, पर मत कर मुनाफाखोरी 
आज इंसान इंसान से ही शर्मिंदा है 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s