राम

राम मय संसार है 
राम सृष्टि का सार है  
राम बिन सब अर्थहीन 
ये जीवन बेकार है
जप रामनाम ऐसे जैसे 
आखिरी ये स्वास है  
रामकृपा से पूर्ण होता 
सबका हर काज है 
राम नाम तेरे 
जीवन की पूंजी है 
रामनाम ही तो 
सफलता की कुंजी है 

Leave a Reply