खुद

खुद में झाँक कर देखा कभी 
खुद को आँक कर देखा कभी 
कितनी ख़ुशी कितना आनंद है अंदर
खुद में डूब कर देखा कभी !

Leave a Reply