दूर

दूर रहो उससे हमेशा 
चाहे हो बात ,याद या इंसान 
जो छीने हंसी तुम्हारी 
जो दे तुम्हें आँसू
जो घसीटे अतीत मे
चाहे झगडे या प्रीत में ......

Leave a Reply