साध

जिसने मन को साध लिया  
उसने जग को साध लिया 
बाकी बचा ना फिर कुछ  भी 
भवसागर से खुद को तार लिया  

Leave a Reply