सब्र

अपने सब्र की कायल हूँ मैं 
तेरे सब्र से घायल हूँ मैं
जो खनकती  रही दिलोदिमाग में 
वो खूबसूरत पायल हूँ मैं  

Leave a Reply