बेफिक्र

छोड़ ना यार इस ज़माने की फ़िक्र 
जब तेरी हर बात में माशूक का जिक्र  !
इस ज़माने से देखी गयी कब ख़ुशी तेरी  
कर अपनी ख़ुशी की फ़िक्र ,बन अपना मित्र  !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s