मोक्ष

ज़िन्दगी में मोक्ष क्यों चाहता है कोई ! पुनर्जन्म नहीं
वो ही समझेगा जिसने ,शिद्दत से उसे जिया भी हो  !

2 thoughts on “मोक्ष

Leave a Reply