बेख्याली

हर दर्द हर बात नज़र अंदाज़ करने वालों 
आएगा वक़्त!
तुम्हें भी नज़रअंदाज़ किया जाएगा 
दूसरों के दर्द से नज़रें चुराने वालों ! 
रूह तड़पेगी तुम्हारी भी !
तुमसे भी हर बेख्याली का हिसाब लिया जाएगा   

6 thoughts on “बेख्याली

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s