बेख्याली

हर दर्द हर बात नज़र अंदाज़ करने वालों 
आएगा वक़्त!
तुम्हें भी नज़रअंदाज़ किया जाएगा 
दूसरों के दर्द से नज़रें चुराने वालों ! 
रूह तड़पेगी तुम्हारी भी !
तुमसे भी हर बेख्याली का हिसाब लिया जाएगा   

6 thoughts on “बेख्याली

Leave a Reply