भूल

अपनी भूल मामूली गलती, दूसरे की पाप !
दूसरे हैं कसूरवार और मासूम आप !
झुकाना चाहिए सर जिनको,तन के खड़े हैं वो
आँख से आँख मिलाकर कर रहे हैं बात ! 

Leave a Reply