अडिग

चाहे कोई तेरे दर्द का मरहम बने ना बने 
जीवन बगिया में नया फूल खिले ना खिले 
फैले रहें चारों ओर शांति के खूबसूरत फूल 
कोशिश कर तेरी दुनिया रहे अडिग ! कभी न हिले 
 

2 thoughts on “अडिग

Leave a Reply