4 दोहा

शीत लहर वर्षा हुई, कापें मेरे पाँव 
कोई गाता गीत तो ,कोई ढूंढे छाँव   

Leave a Reply