18 दोहा

सब इनका ही खेल है, ब्रह्मा विष्णु महेश   
खेला सृजन विनाश का, रचें यही हृदयेश





		

Leave a Reply