मलमला

उम्र भर की मशक्कत का सिला क्या मिला और क्यों 
इस दिल में ये मलमला ! है तो है क्यों 
हमारे जैसे बहुत मिल ही जाएंगे उन्हें 
हमें उनसे उम्मीदों का सिलसिला फिर भी है ! पर क्यों  

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s