गुमान

वो जो कुछ नहीं बहुत कुछ होने का गुमान रखते हैं 
झाँके न गिरेबान में ! बड़ी लंबी ज़ुबान रखते हैं 
काबिलियत हो न हों किसी सम्मान की, वो "मियाँ" फिर भी 
सब कुछ पाने का हमेशा दिल में अरमान रखते हैं 
       ✍️ सीमा कौशिक 'मुक्त' ✍️ 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s