64.दोहा

मन की आँखों से पढ़ें, यदि पी का सन्देश 
तन-मन को ऊर्जा मिले, मिटें ह्रदय के क्लेश 
             ️✍️सीमा कौशिक 'मुक्त' ✍️

आशीर्वाद

माँ-पापा आपको समर्पित -:

दिल में आगे बढ़ने का इरादा ज्यों का त्यों 
दिन रात मेहनत का जज़्बा,ज्यों का त्यों 
आपकी याद आपकी सीख आपका प्यार 
सीने में लें हिलोरें ......
आपका हाथ मेरे सर पे, आशीर्वाद ज्यों का त्यों 
         ✍️सीमा कौशिक 'मुक्त' ✍️