श्री कृष्ण गोपाल हरे

श्री कृष्ण गोपाल हरे 
जय जय गोविन्द हरे 
जय जय गोपाल हरे 
मनके सारे मैल मिटाकर  
भज मन जय गोविन्द हरे   
कृष्ण की भक्ति देती शक्ति  
तन-मन वश ये करे 
आधि-व्याधि, दुःख-दर्द मिटाकर  
मोक्ष की राह करे, जय गोपाल हरे
जय कृष्ण गोविन्द हरे
जो रटे राधे राधे राधे  
जीवन-धारा वो पलटा दे  
कृष्ण सुलभ हो और जीवन के 
सारे दुःख टरे,जय गोपाल हरे  
जय कृष्ण गोपाल हरे 
जय जय गोविन्द हरे 
जय जय गोपाल हरे 
कृष्ण मुरारी बांके बिहारी 
ये मस्तक चरण लगे 
शरण में आकर तेरी प्रभुजी 
नैया भवसागर पार लगे 
श्री कृष्ण गोपाल हरे 
जय जय गोविन्द हरे 
जय जय गोपाल हरे 
               ✍️ सीमा कौशिक 'मुक्त' ✍️