सचेत

बहती लाशें है नदियों में 
हम फिर भी ना चेत रहे 
जो असली वजह हैं, इस सब की 
वो रब से अब सचेत रहें