कदम

 आप कदम पीछे हटा रहे हैं ? 
 ये भूल का है अहसास या सुनहरे 
 ख्वाब बिखरते नज़र आ रहे हैं 
 नज़र आ रही है हार या है पश्चाताप   
 प्यार से नरम तेवर दिखा रहे हैं !....... 

मलाल

ये दिल बारहा तुझे आवाजें देता रहा  
सुन के भी रब मेरे! तू अनसुना करता रहा 
अब सुना तो ऐसे सुना ! कि झूमने लगा है दिल 
मलाल बीते सालों का इस दिल से जाता रहा