नूर

आप बस प्यार करते जाइये 
ना कोई ख्वाहिश ना कोई शर्त 
ना कोई बंधन और ना झिझक 
बरसेगा उस रब का नूर ऐसे 
कि बिन मांगे मोती पाइये 

Leave a Reply