सात्विक ज्ञान

'जिस ज्ञान से मनुष्य सब प्राणियों में
देखे अविनाशी परमात्मा को
विभागरहित समभाव से
उस ज्ञान को सात्विक जान '

2 thoughts on “सात्विक ज्ञान

Leave a Reply